जिस पर किसी तार के अत्यधिक फेरे के अत्यधिक फेरे पास पास पास पास सटाकर लपेटे जाते हैं इसे एक ऐसी परिनालिका के रूप में भी देखा जा सकता है

13-05-2016 1 Answers
0 0


tranjestar

13/05/2016
0 0
Report Answer