कुछ कम चौड़े ललाट पर जुड़ी भौंहों के ऊपर लगी पीली काँच की टिकुली में जो श्रृंगार था वह भटकटैया के फूल से घूर के श्रृंगार का स्मरण दिलाता था

28-07-2015 1 Answers
0 1


Very typical hindi please convert general hindi then translate ! Amitabh2421986@gmail.com

29/07/2015
0 0
Report Answer