झड़ गए पूछँ रोमानत झड़े पशूता का झड़ना बाकी है तन बाहर-बाहर सवर गए मन भी सनरना बाकी है

05-06-2015 0 Answers
0 0